#RajyaSabha Question Number 1686


Question Number 1686 asked by Shri Digvijaya Singh in Rajya Sabha, relating to Environmental clearance for Singaji Thermal Power Project,(सिंगाजी ताप विद्दुत परियोजना हेतु पर्यावरणीय स्वीकृति ) and the answer from Government.

GOVERNMENT OF INDIA

MINISTRY OF ENVIRONMENT, FORESTS AND CLIMATE

RAJYA SABHA

QUESTION NO 1686

ANSWERED ON 24.07.2014

Environmental clearance for Singaji Thermal Power Project

Will the Minister of ENVIRONMENT, FORESTS AND CLIMATE CHANGE be pleased to satate :-

  • (a) whether the Madhya Pradesh’s Singaji Thermal Power Project has received the Ministry’s proposal for forest clearance; and
  • (b) if not, the reasons therefor and by when it will be approved?

Answer by Minister of State in the Ministry of Agriculture and Food Processing - Dr. Sanjeev Kumar Balyan

(a) & (b):Central Government on 18th May 2012 has already accorded final approval under the Forest (Conservation) Act, 1980 for diversion of 130.30 hecatres of forest land in favour of M.P. Power Generating Company Limited for setting up of Malwa Thermal Power Project in District Khandwa, Madhya Pradesh.

As per the information provided by the Additional Principal Chief Conservator of Forests (Land Management) & the Nodal Officer, the Forest (Conservation) Act, 1980, name of the said project has subsequently been changed as Singaji Power Project.


सिंगाजी ताप विद्दुत परियोजना हेतु पर्यावरणीय स्वीकृति

भारत सरकार पर्यावरण , वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय,राज्य सभा

अतारांकित प्रश्न संख्या १६८६

२4.07.2014 को उत्तर के लिए

क्या पर्यावरण , वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री यह बताने की कृपा करेंगे कि :

  • (क) क्या मंत्रालय को मध्य प्रदेश की सिंगाजी ताप विद्दुत परियोजना को वन संबंधी स्वीकृति दिये जाने के संबंध में प्रस्ताव प्राप्त हुआ है ; और
  • (ख) यदि नहीं , तो इसके क्या कारण हैं , और इसे कब तक स्वीकृति प्रदान की जाएगी ?

उत्तर: : पर्यावरण , वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रकाश जावड़ेकर

(क) और (ख) केंद्र सरकार जिला खण्डवा , मध्य प्रदेश, में मालवा ताप विद्दुत परियोजना की संस्थापना हेतु एम पी पॉवर जनरेटिंग कंपनी लिमिटेड के पक्ष में १३०. हेक्टेयर वन भूमि के अपवर्तन के लिए वन (संरक्षण ) अधिनियम , १९८० के अंतर्गत पहले ही दिनांक १८ मई ,२०१२ को अनुमोदन प्रदान कर चुकी है।

अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक (भूमि प्रबंधन) और नोडल अधिकारी, वन (संरक्षण ) अधिनियम, १९८० द्दारा दी गयी सूचना के अनुसार , बाद में उक्त परियोजना का नाम बदलकर सिंगाजी विद्दुत परियोजना कर दिया गया था।