#RajyaSabha Question #1860


मध्य* प्रदेश के किसानों को फसल बीमा योजना के अंतर्गत भुगतान किया जाना, Payment under crop insurance scheme to farmers of Madhya Pradesh

GOVERNMENT OF INDIA

MINISTRY OF URBAN DEVELOPMENT

RAJYA SABHA

QUESTION NO 1860

ANSWERED ON 25.07.2014

Payment under crop insurance scheme to farmers of Madhya Pradesh

Will the Minister of AGRICULTURE be pleased to state :-

  • (a) whether crop insurance scheme is under implementation in Madhya Pradesh;
  • (b) the company which has been authorized for crop insurance in Madhya Pradesh;>
  • (c) the number of farmers whose crops were insured in the years, 2011-12, 2012-13, 2013-14 and the number of farmers out of them who have been given crop insurance during said period;
  • (d) the soyabean crop in Madhya Pradesh suffered huge loss due to heavy rain in the year 2013-14; and
  • (e) the names of districts where such crop loss was suffered and the number of farmers along with the amount paid to them under the crop insurance scheme?

Answer by Minister of State in the Ministry of Agriculture and Food Processing - Dr. Sanjeev Kumar Balyan

(a) & (b):Yes, Sir. National Agricultural Insurance Scheme (NAIS) is being implemented by the Agriculture Insurance Company of India Ltd. (AIC) in the country including Madhya Pradesh. However, under Modified NAIS (MNAIS) and Weather Based Crop Insurance Scheme (WBCIS) Components of National Crop Insurance Programme (NCIP), State Government including Madhya Pradesh have the choice to select one or more companies from the list of eleven empanelled companies viz. Agriculture Insurance Company of India Ltd., ICICI-Lombard, IFFCO-TOKIO, HDFC-ERGO, Cholamandalam-MS, Tata-AIG, Future Generali India, Reliance, Bajaj Allianz, SBI and Universal Sompo General Insurance companies for implementation of crop insurance programme.

(c):Details are given in the following table:

No. of farmers 2011-12 2012-13 2013-14
Covered 3374706 4060131 2410937
Benefited ^ 661779 434642 1470666*

~ * Kharif 2013 season only | ~ ^ to whom claims paid

(d) & (e): Due to heavy rains soybean crop suffered loss in several districts of Madhya Pradesh during Kharif 2013. The implementing agency i.e. AIC has worked out the total claims of the order of Rs.2187.40 crore including Rs.2179.71 crore for soybean crop under NAIS during Kharif 2013 season in Madhya Pradesh. District-wise details of farmers covered, claims worked out and the affected farmers for soybean crop during 2013-14 (Kharif 2013) under NAIS are at Annexure.


मध्यप्रदेश के किसानों को फसल बीमा योजना के अंतर्गत भुगतान किया जाना

1869 श्री दिग्विजय सिंह :

क्या कृषि मंत्री यह बताने की कृपा करेंगे कि:

  • (क) क्या मध्या प्रदेश में फसल बीमा योजना लागू हैं ;
  • (ख) मध्य‍ प्रदेश के लिए फसल बीमा करने वाली किस कंपनी को अधिकृत किया गया है ;
  • (ग) वर्ष 2011-12, 2012-13 और 2013-14 में कितने किसानों की फसल का बीमा किया गया अैर उपरोक्तष वर्षों में उनमें से कितने किसानों को फसल बीमा दिया गया ;
  • (घ) क्या वर्ष 2013-14 में मध्य प्रदेश में सोयाबीन की फसल को अतिवृष्टि से काफी नुकसान हुआ है; और
  • (ड.) किन जिलों में ऐसी फसलों को नुकसान हुआ और फसल बीमा योजना के अंतर्गत कितने किसानों को कितनी राशि का भुगतान किया गया ?

उत्तर : कृषि एवं खाद्य प्रसंस्कारण उद्योग मंत्रालय में राज्य मंत्री (डॉ संजीव कुमार बालियान)

(क) एवं (ख): जी, हां। देश में राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना (एनएआईएस) मध्य प्रदेश सहित भारत कृषि बीमा कंपनी लि0 (एआईसी) द्वारा कार्यान्‍वित की जा रही है। तथापि, राष्ट्रीय फसल बीमा कार्यक्रम के संशोधित एनएआईएस (एमएनएआईएस) और मौसम आधारित फसल बीमा स्कीम (डब्यूंबीसीआईएस) घटकों के अधीन, फसल बीमा कार्यक्रम कार्यान्वयन हेतु मध्य प्रदेश सहित राज्यी सरकारों के पास ग्या‍रह पैनल में शामिल कंपनियों की सूची अर्थात भारतीय कृषि बीमा कंपनी लि0, आईसीआईसीआई-लोम्बामर्ड, इफ्को-टोकियो, एचडीएफसी-इआरजीओ, चोलामंडलम-एमएस, टाटा-एआईजी, फ्यूचर जनरली इंडिया, रिलायंस, बजाज एलाइंज, एसबीआई और यूनिवर्सल सोम्पोस जनरल बीमा कंपनी से एक या अधिक चयन करने का विकल्प है।

(ग): ब्यौरे नीचे सारणी में दिए गए है:

किसानों की संख्या 2011-12 2012-13 2013-14
शामिल 3374706 4060131 2410937
लाभान्वि-त हुए ^ 661779 434642 1470666*

* ~ केवल खरीफ 2013 मौसम | ^ ~ जिन्हें दावों का भुगतान किया गया

(घ) एवं (ड.): खरीफ 2013 के दौरान मध्य प्रदेश के कई जिलों में भारी वर्षा के कारण सोयाबीन फसल को नुकसान हुआ। कार्यान्व यन एजेंसी अर्थात एआईसी ने 2187.40 करोड़ रू0 के कुल दावे निकाले हैं जिसमें खरीफ 2013 मौसम के दौरान मध्यी प्रदेश में एनएआईएस के अधीन सोयाबीन फसल के लिए 2179.71 करोड़ रू0 शामिल हैं। 2013-14 (खरीफ 2013) के दौरान एनएआईएस के अधीन कवर किए गए किसानों, निकाले गए दावों और सोयाबीन फसल के प्रभावित किसानों के जिलावार ब्यौसरे संलग्नडक पर दिए गए हैं।